खेल

INDvsAUS; 3rd ODI: ऑस्ट्रेलिया के हाथों तीसरे एकदिवसीय मैच में भारत ने 32 रन से मैच हारा

विराट कोहली ने लगाया करियर का 41वां शतक, तीसरा वनडे जीतने के बाद भी आस्‍ट्रेलिया में 2-1 से पीछे।

रांची: आस्‍ट्रेलिया के विशाल स्‍कोर 313 रनों के सामने भारत की ओर से कप्तान विराट कोहली (123) के अलावा कोई भी बल्‍लेबाज नहीं टिक सका और भारत को 32 रन से हार का सामना करना पड़ा।

लक्ष्‍य का पीछा करते हुए कोहली अपने करियर का शानदार 41वां शतक लगाया। इसके बावजूद भारतीय क्रिकेट टीम रांची में खेले गए तीसरे वनडे मैच में आस्ट्रेलिया से मिले 314 रनों के लक्ष्‍य को पार नहीं पा सकी। कोहली अलावा विजय शंकर (32), महेंद्र सिह धोनी तथा केदार जाधव ने 26-26 रन बनाए।

Virat Kohli.jpg

इससे पहले आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए उस्मान ख्वाजा (104) के शतक और कप्‍तान एरॉन फिंच (93) रनों की मदद से पांच विकेट पर 313 रनों का मजबूत स्कोर बनाया। भारतीय टीम इसके जवाब में 48.2 में 281 रन पर ऑलआउट हो गई।

Usman Khwaja and Aaron Finch.jpg
आस्ट्रेलिया की ओर से पैट कमिंस, झाए रिचर्डसन और एडम जम्पा ने तीन विकेट लिए।

भारतीय गेंदबाजों ने अंतिम ओवरों में शानदार वापसी करते हुए एक समय विशाल स्कोर की ओर बढ़ रही आस्ट्रेलिया को रांची जेएससीए स्टेडियम में खेले गए तीसरे वनडे में निर्धारित 50 ओवरों में पांच विकेट पर 313 रनों पर ही रोक दिया।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलिया को मजबूत शुरुआत मिली। एक समय लग रहा था कि वह 340-350 के आस-पास आसानी से पहुंच जाएगी, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने आखिरी के 10 ओवरों में मात्र 69 रन देकर आस्ट्रेलिया को विशाल स्कोर बनाने से रोक दिया।

भारतीय टीम की शुरुआत बेहद हाहाकारी रही। शिखर धवन एक रन पर आउट हुए तो रोहित शर्मा भी 14 रन बना कर चलते बने। लेकिन कप्‍तान विराट कोहली पर एक तरफ से भारतीय बल्‍लेबाजों के आउट होते रहने का कोई असर नहीं पड़ा।

जब तक वह क्रीज पर मौजूद रहें, उन्‍होंने टीम इंडिया को मैच में बनाए रखा। दोनों ओपनरों के आउट होने के बाद अंबाती रायडू भी मात्र 2 रन पर चलते बने। महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव ने विराट का जरूर साथ निभाया, लेकिन वे दोनों भी 26-26 रन बना कर आउट हो गए।

इसके बाद विजय शंकर ने जरूर विराट का साथ निभाया, लेकिन विराट के आउट होने के बाद रन गति बढ़ाने के प्रयास में वह आउट हो गए। इसके बाद किसी भी भारतीय बल्‍लेबाज ने जीत की कोशिश नहीं की।