खेल

पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने नाराजगी, कहा-कठपुतली हैं चयनकर्ता

पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने नाराजगी, कहा-कठपुतली हैं चयनकर्ता

नई दिल्ली: विश्व कप में भारत की हार के बाद भी बिना किसी खास मीटिंग के विराट कोहली को टीम इंडिया का कप्तान बनाए रखा गया। इस फैसले पर पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने नाराजगी जताई है। उन्होंने इस मामले को लेकर चयनकर्ताओं पर भी सवाल खड़े करते हुए उन्हें कठपुतली कहा है। गावस्कर मानते हैं कि कोहली को दोबारा कप्तानी सौंपे जाने से पहले आधिकारिक बैठक होनी चाहिए थी।

गावस्कर ने कहा कि अगर उन्होंने (चयनकर्ता) वेस्टइंडीज दौरे के लिए कप्तान का चयन बिना किसी मीटिंग के कर लिया तो यह सवाल उठता है कि क्या कोहली अपनी बदौलत टीम के कप्तान हैं या फिर चयन समिति की खुशी के कारण हैं।

गावस्कर ने कहा हमारी जानकारी के मुताबिक उनकी (कोहली) नियुक्ति विश्व कप तक के लिए ही थी. इसके बाद चयनकर्ताओं को इस मसले पर मीटिंग बुलानी चाहिए थी। एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली अखिल भारतीय चयन समिति ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए कोहली को तीनो फॉर्मेट का कप्तान नियुक्त किया है।

इस सीरीज की शुरुआत फ्लोरिडा में होने वाले टी-20 मुकाबलों से होगी। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) ने साफ कर दिया कि वह विश्व कप में टीम के प्रदर्शन पर रिव्यू बैठक नहीं बुलाएगी, लेकिन वह इस विश्व कप में टीम के प्रदर्शन को लेकर टीम मैनेजर की रिपोर्ट पर विचार करेगी।

गावस्कर ने पूरे मामले का माखौल उड़ाते हुए कहा कि आखिरकार कोहली क्यों अपने मनमाफिक टीम चुनने का हक पाते रहे हैं. गावस्कर ने कहा, चयन समिति में बैठे लोग कठपुतली हैं. पुनर्नियुक्ति के बाद कोहली को मीटिंग में टीम को लेकर अपने विचार रखने के लिए बुलाया गया।

प्रक्रिया को बाईपास करने से यह संदेश गया कि केदार जाधव, दिनेश कार्तिक को खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर किया गया, जबकि विश्व कप के दौरान और उससे पहले कप्तान ने इन्हीं खिलाड़ियों पर भरोसा जताया था और नतीजा हुआ था कि टीम फाइनल में भी नहीं पहुंच सकी।

बीसीसीआई के एक तबके का यह मानना था कि 2023 विश्व कप के ध्यान में रखते हुए तीनों फॉर्मेट के लिए अलग-अलग कप्तान बनाया जाना एक अच्छा कदम हो सकता था और इससे आने वाले समय में टीम को फायदा होता।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button