खेल

विश्व कप (सेमीफाइनल) : आज रिजर्व डे पर खेल नहीं हुआ तो भारत को होगा फायदा

विश्व कप (सेमीफाइनल) : आज रिजर्व डे पर खेल नहीं हुआ तो भारत को होगा फायदा

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जा रहा विश्व कप सेमीफाइनल मंगलवार को बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका और रिजर्व डे में चला गया। हालांकि, बुधवार को बारिश होने की आशंका है और अगर मैच नहीं हो पाया तो इसका लाभ भारत को मिलेगा।

सेमीफाइनल और फाइनल के लिए बनाए गए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के अनुसार, अगर मैच डे पर मुकाबला पूरा नहीं हो पाता है तो रिजर्व डे में मुकाबले को आगे बढ़ाया जाएगा। रिसर्व डे के दिन मैन वहीं से शुरू होगा जहां मैच डे पर समाप्त हुआ था।

अगर मैच टाई हो जाता है तो सुपर ओवर के जरिए मैच का नतीजा निकाला जाएगा, लेकिन अगर रिजर्व डे पर भी मुकाबला पूरा नहीं हो पाता है तो लीग स्टेज की तालिका में ऊपर रहने वाली टीम फाइनल में प्रवेश करेगी।

मंगलवार को मैच रोके जाने तक न्यूजीलैंड ने 46.1 ओवर में पांच विकेट खोकर 211 रन बना लिए थे। बुधवार को मैनचेस्टर में बारिश के आसार हैं जबकि न्यूनतम तापमान 15 और अधिकतक तापमान के 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की आशंका है।

लीग स्टेज की तालिका में भारतीय टीम 15 अंकों के साथ पहले जबकि न्यूजीलैंड 11 अंकों के साथ चौथे पायदान पर रही थी।

न्यूजीलैंड और भारत के बीच मंगलवार को मैनचेस्टर के ओल्ड टैफर्ड मैदान पर खेला जाने वाला आईसीसी विश्व कप-2019 का पहला सेमीफाइनल मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका।

मैच जब रुका तब रॉस टेलर 67 रन और टॉम लाथम तीन रन बनाकर नाबाद थे। यही दोनों कल कीवी टीम की पारी को आगे बढ़ाएंगे। न्यूजीलैंड ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था।

आईसीसी विश्व कप में नॉकआउट दौर में रिजर्व डे का प्रावधान है। इस नियम के मुताबिक, मैच की तारीख वाले दिने अगर मैच पूरा नहीं हो पाता है तो अगले दिन मैच वहीं से शुरू किया जाएगा जहां से पहले दिन खत्म हुआ था। 1999 में इंग्लैंड में खेले गए विश्व कप में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच में ऐसा हो चुका है।

मैच पूरा होने के लिए रिजर्व डे वाले दिन भारत का 20 ओवरों तक बल्लेबाजी करना जरूरी है। अगर रिजर्व डे वाले दिन में भी मैच पूरा नहीं हो पाता है तो भारत फाइनल में जाएगा क्योंकि वह अंकतालिका में न्यूजीलैंड से आगे थे। भारत ने लीग दौर का अंत पहले स्थान पर रहते हुए किया था जबकि न्यूजीलैंड चौथे स्थान पर रही थी।

मौसम विभाग ने सोमवार को ही कहा था कि पूरे दिन बारिश होने के आसार हैं।

मैच जब शुरू हुआ तब से ही बादल छाए हुए थे और ऐसे में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारतीय गेंदबाजों ने अपने लिए मुफीद परिस्थितियों का फायदा उठाया और किवी बल्लेबाजों को परेशान भी किया।

पहले दो ओवर जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार ने मेडेन निकाले। तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर किसी तरह कीवी टीम का खाता खुला, लेकिन अगले ओवर की तीसरी गेंद पर बुमराह ने मार्टिन गुप्टिल को विराट कोहली के हाथों कैच करा भारत को पहली सफलता दिलाई।

विकेट से मिल रही मदद का बुमराह और भवुनेश्वर ने अच्छा फायदा उठाया और कीवी बल्लेबाजों को रन नहीं बनाने दिए। न्यूजीलैंड 10 ओवरों में 27 रन ही बना पाई थी जो इस विश्व कप में पहले पावर प्ले में अभी तक का न्यूनतम स्कोर है।

हेनरी निकोलस (28) और विलियम्सन आराम से बल्लेबाजी कर रहे थे। अगले 10 ओवरों में भी रनगति में ज्यादा तेजी देखने को नहीं मिली। किवी टीम ने 11-20 ओवरों के बीच में सिर्फ 46 रन जोड़े। इस दौरान रवींद्र जडेजा ने निकोलस को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिला दी थी।

इसके बाद विलियम्सन और टेलर ने पारी को आगे बढ़ाया और तीसरे विकेट के लिए 65 रनों की साझेदारी की। भारतीय गेंदबाजों ने इन दोनों को भी काफी परेशान किया लेकिन विलियम्सन अपनी क्लास और टेलर अपने अनुभव से किसी तरह से रन बना रहे थे। इस बीच विलियम्सन ने अपना अर्धशतक पूरा किया।

सेट हो चुके विलियम्सन ने स्पिनरों को निशाना बनाया चाहा। उन्होंने जडेजा पर गैप ढूंढ़ कुछ अच्छे शॉट्स भी लगाए, लेकिन इनसाइड आउट शॉट खेलने के प्रयास में वे चहल की गेंद पर जडेजा को ही कैच दे बैठे। कीवी कप्तान ने अपनी पारी में 95 गेंदों का सामना किया और छह चौके लगाए।

41वें ओवर की आखिरी गेंद पर हार्दिक पांड्या ने जिम्मी नीशम को दिनेश कार्तिक के हाथों कैच करा कीवी टीम का चौथा विकेट गिरा दिया। नीशम ने 18 गेंदों पर 12 रन बनाए।

45वें ओवर की चौथी गेंद पर भुवनेश्वर ने कोलिन डी ग्रांडहोम (16) को भी पवेलियन भेज न्यूजीलैंड का स्कोर पांच विकेट के नुकसान पर 200 रन कर दिया। टेलर और लाथम के ऊपर टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी थी लेकिन बारिश ने ऐसा होने नहीं दिया।

यह दोनों बुधवार को एक बार फिर अपने काम को अंजाम देने के लिए मैदान पर उतरेंगे।

भारत के लिए अभी तक खेले गए मैच में जसप्रीत, भुवनेश्वर, पांड्या, जडेजा, चहल ने एक-एक विकेट लिया है। पांड्या, जडेजा और चहल ने अपने कोटे के 10 फेंक लिए हैं जबकि बुमराह और भुवनेश्वर के दो-दो ओवर बाकी हैं।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button